Alvitrips

Touris place, religious place, history, and biography information in hindi

Janter manter jaipur history in hindi जंतर मंतर जयपुर मध्यकालीन युग की वेधशाला – जंतर मंतर जयपुर का इतिहास

प्रिय पाठको जैसा कि आप सभी जानते है। कि हम भारत के राजस्थान राज्य के प्रसिद् शहर व गुलाबी नगरी के नाम से पहचाना जाने वाले एक खुबसुरत शहर जयपुर के भ्रमणपर है। इस भ्रमण के दौरान हमने जयपुर के प्रसिद पर्यटन स्थलो की सैर कर रहे है। तथा वहा की राजपूताना विरासत की धरोहरो और संस्कृति को विस्तार से जानने की कोशिश कर रहे है। पिछली पोस्टो मे हमने जयपुर के प्रमुख पर्यटन स्थल हवा महल तथा सिटी महल की सैर की थी और उसके बारे मे विस्तार से जाना था। इस पोस्ट मे हम जयपुर के टूरिस्ट प्लेस मे से एक तथा जयपुर टूरिस्ट पैलेस मे प्रमुख स्थान रखने वाले पर्यटन स्थल जंतर मंतर ( janter manter Jaipur ) की सैर करेगे और उसके बारे म विस्तार से जानेगें।

 जंतर मंतर कहाँ स्थित है ?
 जंतर मंतर जयपुर शहर के मध्य गंगोरी बाजार मे है। यह भव्य इमारत हवा महल तथा सिटी प्लेस के बीच मे स्थित है। तथा यह सिटी प्लेस मे स्थित चन्द्र महल से जुडी हुई है।

 जंतर मंतर क्या है Janter manter jaipur

 जंतर मंतर एक खगोलीय वेधशाला है तथा एक आश्चर्यजनक मध्यकालीन उपलब्धि है।

janter manter Jaipur
जंतर मंतर जयपुर के सुंदर दृश्य

 जंतर मंतर का निर्माण कब हुआ?
 जंतर मंतर का निर्माण सन (1724) मैं शुरू हुआ था तथा सन 1734 मैं यह बनकर तैयार हो गया था।

 जंतर मंतर का निर्माण किसने करवाया था?
 जंतर मंतर का निर्माण महाराजा सवाई जयसिंह दितीय द्वारा कराया गया था महाराजा सवाई जयसिंह द्वारा देश भर मै ऐसी पाँच वेधशालाओ का निर्माण कराया गया था।

 जंतर मंतर  का निर्माण किस शास्त्र के अनुसार किया गया है?Janter manter Jaipur

जंतर मंतर का निर्माण खगोलीय शास्त्र के आधार पर किया गया है था। तथा इसके निर्माण के लिए उस समय के प्रसिद्ध खगोल शास्त्रीयो कि मदद ली गई थी।

 जंतर मंतर का निर्माण क्यों किया गया था?
 जंतर मंतर का निर्माण खगोलीय दृष्टि से किया गया था जो समय मापने ग्रहण कि भविष्यवाणी करने किसी तारे कि गति व स्थिति जानने ग्रहों की स्थिति जानने आदि के उद्देश्य से किया गया था।

 महाराजा सवाई जयसिंह द्वारा निर्मित जंतर मंतर कहा कहा है?
 महाराजा सवाई जयसिंह द्वारा जंतर मंतर का निर्माण देश के पांच शहरों मै कराया गया था जो इस प्रकार है:- जयपुर, दिल्ली, उज्जैन, बनारस, मथुरा जिसमे जयपुर का जंतर मंतर इन सब इमारतो मै सबसे बडा है। सवाई जयसिह द्वारा निर्मित इन पाँच वेधशालाओ मैं आज केवल दिल्ली ओर जयपुर के ही जंतर मंतर ही शेष बचे हैं बाकी काल के गाल मैं समा गए।

जल महल जयपुर

हवा महल का इतिहास

सिटी प्लैस की जानकारी

  जंतर मंतर मैं कितने यन्त्र है? Janter manter jaipur

जंतर मंतर मै कुल 14 यन्त्र है जो इस प्रकार है:-
1-उन्नातांश यंत्र
2- दिशा यन्त्र
3- सम्राट यन्त्र
4- जय प्रकाश यन्त्र (क)
5- नाड़ीविलय यंत्र
6- राम यन्त्र
7- पाषांश यंत्र
8- ध्रुवदर्शक पट्टिका
9- लघुसम्राट यंत्र
10- शशि वलय यंत्र
11- चक्र यंत्र
12- दिगंश यंत्र
13- दळिणोदक यंत्र
14- जयप्रकाश यत्र (ख)

Janter manter jaipur जंतर मंतर जयपुर को विश्व धरोहर में कब शामिल किया गया
जंतर मंतर जयपुर को 1 अगस्त 2010 को विश्व धरोहर कि सूची मैं शामिल किया गया

Leave a Reply