Alvitrips

Touris place, religious place, history, and biography information in hindi

Jammu kashmir tourist place जम्मू कश्मीर टूरिस्ट पैलेस जानकारी हिन्दी में

जम्मू कश्मीर भारत के उत्तरी भाग का एक राज्य है । यह भारत की ओर से उत्तर पूर्व में चीन और दक्षिण में हिमाचल प्रदेश और पंजाब राज्य से घिरा है । पश्चिम में यह पाकिस्तान के उत्तर पश्चिम फ्रंटियर प्रान्त और पंजाब से घिरा है।  इस राज्य के तीन प्रमुख क्षेत्र है ।( Jammu Kashmir tourist place ) जम्मू का तलहटी मैदान, कश्मीर की नीली घाटियां और झीलें तथा लद्दाख का खुबसूरत पहाड़ी इलाका।जम्मू कश्मीर राज्य की दो राजधानियां है । ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर रहती है। और शीतकालीन राजधानी जम्मू रहती है। वैसे तो जम्मू कश्मीर पूरा राज्य ही कुदरती खुबसूरती की अनोखी देन है । परन्तु कश्मीर क्षेत्र वाला हिस्सा अपनी खुबसूरती के लिए विश्व भर में इतना प्रसिद्ध है कि इसके बारे में कहा जाता है कि धरती पर कहीं स्वर्ग है तो वो यही पर है। यहाँ के खुबसूरत झरने बर्फ की सफेद चादर ओढे ढलान आसमान छूती दूधिया ग्लेशियर चोटियाँ सुंदर झीलों में तैरते रंग-बिरंगे शिकारे व हाऊसबोट मुगलों की वैभवता और शानोशौकत को बयां करते मनभावन बगीचे सैलानियों को यहाँ आने पर मजबूर कर देते है । जम्मू कश्मीर साहसिक गतिविधियों जैसे स्काईंग ट्रेकिंग फिशिंग विंटर स्पोर्ट्स आदि के लिए भी जाने जाते है ।ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर कश्मीर भ्रमण का मुख्य पडाव है ।और कश्मीर क्षेत्र का सबसे बड़ा शहर है। यह शहर समुद्र तल से 1730 मीटर की ऊचाई पर बसा है । इस शहर का अपना मुख्य हवाई अड्डा है जो भारत के सभी प्रमुख हवाई अड्डों से जुड़ा है। वैसे तो जम्मू कश्मीर पूरा राज्य ही अपने प्राकृतिक सोंदर्य के कारण अपने आप में टूरिस्ट पैलेस है । किन्तु इस लेख में कुछ प्रसिद्ध जम्मू कश्मीर टूरिसट पैलेस के बारे में जानेगें।

जम्मू कश्मीर टूरिस्ट पैलेस( Jammu kashmir tourist place

गुलमर्ग

जम्मू और कश्मीर राज्य के बारामूला जिले में स्थित खुबसूरत हिल्स स्टेशन गुलमर्ग पर्यटको का सबसे पसंदीदा जम्मू कश्मीर टूरिस्ट पैलेस है । यह प्रसिद्ध पर्यटन स्थल समुद्र तल से लगभग 2730 मीटर की ऊचाई पर बसा है । यहाँ के हरे भरे ढलान पर्यटको को अपनी ओर आकर्षित करते है । सर्दी के मौसम के दौरान यहाँ बड़ी संख्या में पर्यटक पहुँचते है । इस मौसम में यहाँ के ढलान बर्फ की सफेद चादर से ढके होते है । जहाँ पर्यटक स्कीइंग का खुब लुत्फ उठाते है। स्कीइंग  के  लिए यह स्थल विश्व प्रसिद रिजार्ट में गिना जाता है। यहाँ स्कीइंग प्रतियोगिताओ का भी आयोजन होता है तथा स्कीइंग की सभी सुविधाएं व प्रशिक्षक भी उपलब्ध रहते है।

खिलनमर्ग

खिलनमर्ग गुलमर्ग के आंचल में बस्ती एक खुबसूरत घाटी है। यहाँ के हरे भरे मैदानों में जंगली फूलों का सौंदर्य देखते ही बनता है। खिलनमर्ग से बर्फ से ढके हिमालय और कश्मीर घाटी का अद्भुत नजारा देखा जा सकता है।

अलपाथर झील jammu kashmir tourist place

चीड़ और देवदार के पेड़ों से घिरी यह झील अफरवात चोटी के नीचे स्थित है इस खुबसूरत झील का पानी मध्य जून तक बर्फ बना रहता है।

निंगली नल्लाह

गुलमर्ग से आठ किलोमीटर की दूरी पर स्थित निंगली नल्लाह एक धारा है । जो अफरात चोटी से पिघली बर्फ और अलपाथर झील के पानी से बनी है । यह सफेद धारा घाटी में गिरती है और झेलम नदी में मिलती है । घाटी के साथ बहती यह धारा गुलमर्ग का एक प्रसिद्ध पिकनिक स्पॉट है। यह jammu Kashmir tourist place मन मोहक स्थल है

डल झील

श्रीनगर में jammu kashmir tourist place में सबसे प्रमुख स्थान व सैलानियों की सबसे पसंदीदा जगह में से एक डल झील अपना अलग ही महत्व रखती है । इसकी खुबसूरती की जितनी तारीफ की जायें कम है । डल झील लगभग 17 किलोमीटर के क्षेत्र मे फैली हुई है । डल झील को जम्मू कश्मीर प्रान्त की दूसरी सबसे बडी झील माना जाता है । यह झील तीन दिशाओं से पहाडियों से घिरी है । इसके जलाशय की पूर्ति पानी के सोतों व घाटी की अन्य छोटी झीलें इसमें आकर मिलती है । डल झील की गहराई लगभग 6 मीटर के करीब है । इस झील के चार मुख्य जलाशय है गगरीबल, लोकुट डल, बोड डल तथा नागिन। डल झील में तैरते रंग बिरंगे शिकारे व हाऊसबोट इसकी सुंदरता में चार चांद लगा देते है । इन शिकारो व हाऊस बोट में यात्रियों के सैर करने व ठहरने की उचित व्यवस्था रहती है । इन हाऊस बोट में कुछ दिन रहकर सैलानी झील की सैर का आनन्द उठा सकते है । नेहरू पार्क, कानुटुर खाना, चार चीनारी आदि द्विपो तथा हजरतबल की सैर भी इन शिकारो पर की जा सकती है । इसके अलावा शिकारो पर दुकानें भी लगी होती है जहाँ से सैलानी खरीदारी भी कर सकते है । डल झील में वाटर स्पोर्टस का लुत्फ़ भी उठाया जा सकता है।

पहलगाम के पर्यटन स्थल

गुलमर्ग के पर्यटन स्थल

निशात गार्डन

श्रीनगर के प्रसिद्ध बगीचों में शुमार निशात गार्डन डल झील के पूर्वी तरफ स्थित है । यहाँ से डल झील का पूर्ण दृश्य देखने को मिलता है । निशात गार्डन और डल झील के मध्य बस एक सड़क की दूरी है । निशात गार्डन का निर्माण मुमताज महल के पिता और नूरजहाँ के भाई हसन आसफ़ खान द्वारा सन् 1632 ई° में कराया गया था । इस गार्डन में फूलों की अनेक प्रजातियाँ देखने को मिलती है गार्डन में लगे सुंदर फव्वारे और हरी मखमली घास इसकी सुंदरता और बढ़ा देतें है।

हजरतबल

Jammu kashmir tourist place में से एक तथा मुस्लिम समुदाय में खास मुकाम रखने वाली प्रसिद्ध हजरतबल मस्जिद डल झील के पश्चिमी ओर स्थित है । हजरतबल मस्जिद को कई अन्य नामों से भी जाना जाता है । जैसे:- हजरतबल, अस्सार-ए-शरीफ, मदीनात-उल-सेनी और दरगाह शरीफ आदि। ऐसा माना जाता है कि मुस्लिम पैगंबर हजरत मुहम्मद साब की दाड़ी का एक पवित्र बाल यहाँ रखा है । जिसको पैगंबर मोहम्मद के वंशज सय्यद अब्दुल्लाह भारत लेकर आयें थे । जो बाद में समय के हालातों के चलते कश्मीरी व्यापारी नूरूद्दीन एशाई तक पहुंचा । नूरूद्दीन एशाई के बाद उसके वंशजों ने इस पवित्र बाल के लिए दरगाह का निर्माण कराया । सफेद संगमरमर से बनीं इस मस्जिद में मुग़ल और कश्मीरी वास्तुकला का संगम देखने को मिलता है

शालीमार गार्डन

जम्मू कश्मीर की शीतकालीन राजधानी श्रीनगर से 15किलोमीटर की दूरी पर स्थित शालीमार गार्डन  में उच्चतम स्थान रखता है । शालीमार गार्डन  Jammu kashmir tourist place  में महत्वपूर्ण स्थान रखता है।इसे फेज़ बख्श, गार्डन अॉफ चार मीनार तथा फराह बख्श आदि नामों से भी जाना जाता है । मखमली हरी-भरी घास की क्यारियों विभिन्न प्रकार की प्रजातियों के फूल-पौधों नक्काशीदार सुंदर फव्वारे इसकी सुंदरता में चार चांद लगाते है। इस बाग़ को मुग़ल बादशाह जहाँगीर ने अपनी बेगम नूरजहाँ के लिए 1619 ई° में बनवाया था। शालीमार गार्डन को विभिन्न प्रयोजनो के लिए तीन सीढीदार वर्गों विभाजित किया गया है। बहारी बगीचा दीवान-ए-आम कहलाता है। जो आम प्रजा के लिए था। बीच वाला हिस्सा दीवान-ए-खास या सम्राट का बाग़ कहलाता है। यह हिस्सा सम्राट व मंत्रिमंडल के लिए था। तीसरा और सबसे ऊपर वाला हिस्सा शाही महिलाओं के लिए आरक्षित था। इस हिस्से का प्रयोग केवल शाही औरतें ही करती थी यहाँ और किसी को जाने की अनुमति नहीं थी। बाग़ के बीचोंबीच चीकने पत्थरो से एक नहर बहती है। जिसकी शोभा देखने लायक है। यहाँ रात के समय तेल के दीपको से रोशनी की जाती है। इस प्रकाश का नहर के पानी पर स्पेशल इफेक्ट पड़ता है जिससे नहर का पानी कई रंगों में चमक उठता है ।

सोनमर्ग

जम्मू कश्मीर प्रान्त के गान्दरबल जिले में स्थित सोनमर्ग पर्वतीय पर्यटन स्थल है। समुद्र तल से इसकी ऊचाई लगभग 2730 मीटर है। सोनमर्ग श्रीनगर से उत्तर पूर्व 67 किलोमीटर की दूरी पर लेह(लद्दाख) जाने वाले राजमार्ग पर स्थित है। सोनमर्ग से उसी मार्ग पर 9किमी आगे जाने पर जोजिला दर्रा पड़ता है। जो कश्मीर और लद्दाख के बीच एक महत्वपूर्ण कड़ी है। सोनर्ग सिन्द नामक नदी की घाटी में बसा है । यह नदी सिन्धु नदी से भिन्न है। सोनमर्ग सहासिक गतिविधियों के लिए जाना जाता है। सैलानी यहाँ ट्रेकिंग या पैदल लम्बी यात्रा का आन्नद उठा सकते है। सभी प्रमुख ट्रेकिंग के रास्ते सोनमर्ग से ही शुरू होते है। इसके अलावा सैलानी यहाँ से करीबी पर्यटन स्थलो जैसे:-  गदसर, कृष्णासर, सत्सर, गंगाबल, ग्लेशियर, निलाग्रद, सत्सरन दर्रा  आदि प्रसिद्ध स्थलो के भ्रमण का भी आंनद उठा सकते है।

पहलगाम

जम्मू कश्मीर राज्य के अनंतनाग जिले में लिद्दर नदी और शेषनाग झील के मुहाने पर बसा पहलगाम जम्मू कश्मीर टूरिस्ट पैलेस  Jammu kashmir tourist place में अपनी खुबसूरती के लिए जाना जाता है। चारों ओर बर्फ से ढकी चोटियां मधुर गीत गाती प्राकृतिक हरियाली और उसमें मधुर संगीतमय ताल ढोकती छल छल करती नदी बरबस ही सैलानियों का मनमोह लेती है। पहलगाम समुद्र तल से लगभग 2130 मीटर की ऊचाई पर स्थित है । पहलगाम को प्रसिद्ध अमरनाथ यात्रा का प्रवेश द्वार भी कहा जाता है। यहाँ से 16 किमी की दूरी पर चंदन वाडी है। जहाँ से अमरनाथ यात्रा आरम्भ होती है। पहलगाम खेल प्रेमी सैलानियों के लिए उपयुक्त स्थान है। यहाँ सैलानी हार्स राइडिंग गोल्फ फिशिंग आदि का लुफ्त उठा सकते है। इसके आलावा पर्यटक यहाँ ममलेश्वर शिव मंदिर, वैसारन , लुलियन झील, ओवेरा वन्य जीव अभ्यारण्य, मरतड मंदिर, अरू अचावल आदि स्थलो का भी आनंद उठा सकते है।

पटनीटॉप

पटनीटॉप जम्मू मण्डल के सबसे रमणीक और खुबसुरत पर्यटन स्थल मे से है। पटनीटॉप जम्मू से 112किमी की दूरी पर ऊधमपुर जिले में जम्मू श्रीनगर नेशनल हाइवे पर स्थित है । यह रिसॉर्ट समुद्र तल से लगभग 2024 मीटर की ऊचाई पर एक पसर पर बसा है। चीड़ देवदार के घने जंगल  घुमावदार पहाड़ी मार्ग लुभावने दृश्य और शांत वातावरण इसे सैलानियों के लिए पिकनिक का मुख्य स्थान बनाता है। इस क्षेत्र में तीन मीठे पानी के झरने है। ठंड के मौसम मे स्काईग और ट्रेकिंग म भाग लेने के लिए बड़ी संख्या में सैलानी यहाँ आते है। पटनीटॉप में अन्य गतिविधियों जैसे:- पैराग्लाइडिंग एरो स्पोर्ट्स घुड़सवारी और फोटोग्राफी इसे जम्मू कश्मीर टूरिस्ट पैलेस (Jammu kashmir tourist place)  में मुख्य स्थान दिलाती है। इसके आलावा आप यहाँ नजदीकी पर्यटन स्थलो जैसे:- वैष्णो देवी मंदिर, नाग मंदिर, अमरनाथ मंदिर, बाहु किला, सुध महादेव आदि की भी यात्रा कर सकते है।

कारगिल Jammu Kashmir tourist place

कारगिल कश्मीर क्षेत्र का जिला है। जो श्रीनगर से लगभग 205 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।  यह स्थान मुख्य रूप से बौद्ध पर्यटन केन्द्र के लिए प्रसिद्ध है। यहाँ बौद्धों के कई प्रसिद्ध मठ स्थित है। यह jammu kashmir tourist place का प्रमुख स्थल हैं

Leave a Reply