Alvitrips

Touris place, religious place, history, and biography information in hindi
रेवाड़ी पर्यटन स्थल – रेवाड़ी के टॉप 8 दर्शनीय स्थल

रेवाड़ी पर्यटन स्थल – रेवाड़ी के टॉप 8 दर्शनीय स्थल

रेवाड़ी हरियाणा राज्य का एक प्राचीन शहर और जिला है। रेवाड़ी पर्यटन के रूप मे भी हरियाणा का प्रसिद्ध शहर है। रेवाड़ी का इतिहास बहुत प्राचीन है। यह यदुवंशी अहीर / यादवों की एक जगह है। रेवाड़ी की प्राचीनता का उल्लेख ऋग्वेद और महाभारत जैसे भारतीय महाकाव्यों में इस क्षेत्र का उल्लेख है। इन ग्रंथों यह ‘ब्रह्मवेत्ता, एक जगह है, जहाँ वैदिक संस्कृति विकसित किया गया था के रूप में जाना जाता है। इसकी पहचान प्राचीन भारत में महाभारत काल के दौरान, रेवत नाम के एक राजा जिनके रेवती नाम की एक बेटी थी।

पिता ने उसे प्यार से रीवा कहा करते थे। राजा ने एक शहर स्थापित किया और उसका नाम “रीवा वाडी” रखा। राजा रेवत ने अपनी पुत्री रीवा का विवाह श्रीकृष्ण के बडे भाई बलराम के साथ कर दिया। और राजा ने अपनी बेटी को यह शहर दहेज के रूप मे दान कर दिया। बाद मे यह शहर बलराम की राजधानी रहा। समय के चक्र के साथ साथ “रीवा वाडी” रेवाड़ी बन गया। मध्यकालीन युग मे सम्राट हेमचंद्र विक्रमादित्य का भी शासन रहा। जिन्होंने अफगान और मुगलों के खिलाफ 22 की लड़ाई जीती थी। 1857 के स्वतंत्रता संग्राम मे भी रेवाड़ी का काफी योगदान रहा।

रेवाड़ी अपने आप में बहु आयामी प्रतिभाओ, महान कलाकारों, कवियों, साहित्यकारों, शूरवीरो, धार्मिक स्थलों, शैक्षणिक प्रतिष्ठानों, प्रकृतिं सौंदर्य से ओतप्रोत दक्षिणी हरियाणा का एक ऎसा स्थान है जहाँ आकर मन को सुकून और पवित्रता का बोध होता है। रेवाड़ी के पर्यटन स्थल, रेवाड़ी के दर्शनीय स्थल, रेवाड़ी आकर्षक स्थल, रेवाड़ी मे घूमने लायक जगहों की कोई कमी नही है। यदि आप रेवाड़ी की यात्रा, रेवाड़ी भ्रमण, रेवाड़ी दर्शन, रेवाड़ी की सैर की योजना बना रहे है तो, यहां हम आपको रेवाड़ी पर्यटन के अंतर्गत आने वाले रेवाड़ी के धार्मिक स्थल, रेवाड़ी के ऐतिहासिक स्थल, रेवाड़ी टूरिस्ट स्पॉट के कुछ प्रमुख स्थलो की सूची आपके साथ साझा कर रहे है।

 

 

 

 

रेवाड़ी पर्यटन स्थलों के सुंदर दृश्य
रेवाड़ी पर्यटन स्थलों के सुंदर दृश्य

 

 

 

 

रेवाड़ी पर्यटन स्थल – रेवाड़ी के टॉप 8 आकर्षण

 

 

 

 

हेरिटेज स्टीम लोकोमोटिव संग्रहालय

वर्तमान में रेवाड़ी हेरिटेज स्टीम लोकोमोटिव संग्रहालय के एकमात्र लोकोमोटिव शेड ने कुछ पुराने भाप इंजनों को अच्छी तरह से संग्रहित किया है। जो कभी भारत में एक समय  मौजूद थे। यह शेड 1800 के उत्तरार्ध में बनाया गया था, और इस ट्रैक का एक हिस्सा दिल्ली से पेशावर, पाकिस्तान से जुड़ा हुआ था। भारतीय रेल ने इस विरासत स्थल को राज्य में पर्यटन को बढ़ाने के लिए इसे संग्रहालय का रूप दे दिया। और भाप के इंजनों को अब संग्रहालय में दिखाया गया है, यह दिखाता है कि यह अतीत में कैसा था, और इन सभी में क्या यात्राएं की गई थीं। स्टीम लोकोमोटिव संग्रहालय आपको रॉयल्टी के समय वापस ले जाता है जहां इन इंजनों में यात्रा के दौरान इस्तेमाल की जाने वाली तकनीक इस्तेमाल की जाती थी।

 

 

 

 

बाग वाला तालाब

142 वर्ग फुट के क्षेत्र में फैले, बाग वाला तालाब एक प्राचीन तालाब है, जिसे कई सदियों पहले बनाया गया था। इस ऐतिहासिक स्थल पर आपको हर जगह हरियाली के साथ शांत तालाब मिलेगा जो बस क्षेत्र को सुंदर बनाता है। इसके अलावा भीड़ को हरे बगीचे के चारों ओर घूमते देखा जाता है। जो आज तक की तरह ताजगी का अनुकरण करता है। तालाब राम अहिर द्वारा बनाया गया था और पुरानी तहसील कार्यालय रेवारी के पास स्थित है।

 

 

 

 

 

बडा तालाब

रेवाड़ी पर्यटन मे बडा तालाब का एक तालाब के रूप में बड़ा महत्व है, इसका महत्व इसलिए बडा है, क्योंकि बड़ा तालाब ऐतिहासिक और धार्मिक दोनो भावनाओं से जुड़ा है। तालाब के पास एक हनुमान मंदिर है, जहा भक्तों का तांता लगा रहता है। इस तालाब का निर्माण 1800 ईसवी मे राव तेज सिंह ने स्नान हेतू करवाया था।

 

 

 

 

 

राव तुलाराम मेमोरियल

राव तुला राम, भारत में 1857 के विद्रोह के नायकों में से एक माने जाते है। हरियाणा के छोटे से शहर रेवाड़ी से उन्होंने जो भूमिका निभाई वह स्वतंत्रता संग्राम की लड़ाई में कई महत्वपूर्ण क्षणों के लिए नेतृत्व से सबसे महत्वपूर्ण थी। कि। राव तुला राम की भूमिका न केवल एक स्वतंत्रता सेनानी के रूप में ही नही बल्कि उच्च मूल्यों के एक व्यक्ति के रूप में महत्व रखती है। उन्होंने उस समय के दौरान रेवाड़ी के लोगों से भारी समर्थन प्राप्त किया, और जोर से शोर से संग्राम मे भाग लिया। राव तुला राम मेमोरियल इस महान नेता की कहानियां क्षेत्र के कई युवा मन को प्रेरित करने के लिए करने और उनके सम्मान मे बनाया गया है।

 

 

 

 

 

भगवती आश्रम

रामपुरा के भगवती भक्ति आश्रम भगवती भक्ति आश्रम भी रेवाड़ी में एक प्रसिद्ध ऐतिहासिक जगह है। इस के अलावा इस तरह के और भी कई आश्रम रेवाड़ी मे है। बाबा भैरव नाथ, स्वामी सारानंद का आश्रम, बलवारी गांव में बाबा पुरूषोत्तम दास का आश्रम, गांव भारावास मे बाबा मोहन दास का आश्रम। ऐसे अनेक आश्रम रेवाड़ी की धरती पर स्थित है। जहां दूर से अनुयायी इन आश्रमों में पहुंचते है।

 

 

 

 

रेवाड़ी पर्यटन स्थलों के सुंदर दृश्य
रेवाड़ी पर्यटन स्थलों के सुंदर दृश्य

 

 

 

हमारे यह लेख भी जरूर पढ़ें:—

सिरसा पर्यटन स्थल

जींद के दर्शनीय स्थल

झज्जर के दर्शनीय स्थल

कुरूक्षेत्र के दर्शनीय स्थल

हिसार के दर्शनीय स्थल

रोहतक के दर्शनीय स्थल

पानीपत के दर्शनीय स्थल

 

 

 

 

 

 

बावल का किला

बावल का किला रेवाड़ी जिले मे, दिल्ली-जयपुर राष्ट्रीय राजमार्ग के निकट बावल शहर मे स्थित है। यह शहर 1857 के गदर से पहले और बाद मे झज्जर रियासत का एक हिस्सा था, बावल नाभा प्रमुख, हीरा सिंह के हाथों में चला गया और उसने वहां 1875 मे एक किले का निर्माण कराया। यह किला स्लेट और पत्थर चिनाई की बनाया गया है। इसके तीन पक्षीय दीवारों और पीछे प्रवेश द्वार अभी भी संतोषजनक हालत में हैं। बाकी किला खंडहर हो गया है।

 

 

 

 

 

तुर्किवास

भारतीय शासकों के बीच एक प्रवृत्ति प्राचीन समय से ही थी कि वह  अपने वफादार अधिकारियों को जागीर आवंटित करते थे। इसी तरह, तुर्कीयावास गांव के साइयद ने अपने स्वयं के गांव के चारों ओर छह गांवों के एक जागीर प्राप्त की थी। साइयाद ने तुर्कीयावास गांव के आसपास के क्षेत्र में चार शानदार मकबरो का निर्माण किया – यह संरचना भव्य थी , लेकिन अब क्षीण हो चुकी है। रेवाड़ी पर्यटन मे यह स्थान ऐतिहासिक महत्व वाला है।

 

 

 

 

घंटेश्वर मंदिर

(GHANTESHWAR tample) घंटेश्वर मंदिर रेवाड़ी शहर के दिल में स्थित है, और यह मंदिर सनातन धर्म से संबंधित दुर्लभ मंदिरों में से एक है। यहा सभी देवताओं और सनातन धर्म की देवी की मूर्तियां इस मंदिर में स्थापित जाता है। यह मंदिर तीन मंजिला है, और काफी संख्या में भक्तों और पर्यटकों को अपनी ओर खींचता है। रेवाड़ी पर्यटन इस मंदिर का बहुत महत्व है।

 

 

 

 

 

लाल मस्जिद

लाल मस्जिद रेवाड़ी पर्यटन का लोकप्रिय ऐतिहासिक स्थल है। लाल मस्जिद, अपने लाल रंग के रूप में जानी जाती है। इस मस्जिद का निर्माण मुगल बादशाह अकबर के शासन काल के दौरान हुआ था। यह रेवाड़ी शहर की सबसे सुंदर ऐतिहासिक स्मारकों में से एक है और ओल्ड कोर्ट के पास स्थित है।

 

 

 

 

 

रेवाड़ी पर्यटन स्थल, रेवाड़ी के दर्शनीय स्थल, रेवाड़ी आकर्षक स्थल, रेवाड़ी मे घूमने लायक जगह, रेवाड़ी की सैर, रेवाड़ी का इतिहास, रेवाड़ी भ्रमण, रेवाड़ी दर्शन, रेवाड़ी के धार्मिक स्थल, रेवाड़ी के ऐतिहासिक स्थल आदि शीर्षकों पर आधारित हमारा यह लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट करके जरूर बताएं। यह जानकारी आप अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते है।

Leave a Reply