Alvitrips

Touris place, religious place, history, and biography information in hindi
बैंगलोर दर्शनीय स्थल – बंगलौर के टॉप 20 पर्यटन स्थल

बैंगलोर दर्शनीय स्थल – बंगलौर के टॉप 20 पर्यटन स्थल

बैंगलोर भारत के कर्नाटक राज्य की राजधानी है। 16वी शताब्दी में बसा यह शहर “बागो के शहर” के नाम से भी जाना जाता है। यह शहर टीपू सुल्तान और हैदर अली जैसे राजाओ की राजधानी भी रहा है। बैंगलोर दर्शनीय स्थल यहा के उद्यानो के लिए जाने जाते है। यहा अनेक रमणीक और आकर्षक उद्यान देखने योग्य है। यहा के बाग बगीचो की जितनी तारीफ की जाए कम है। इसके अलावा आधुनिक मकानो की शिल्पकला का आकर्षण भी पर्यटको को खूब लुभाता है। अंग्रेजो के जमाने में यह शहर अंग्रेजो का ग्रीष्मकालीन निवास भी रहा है। बाद में इस शहर का विकास योजनाबद्ध तरीके से किया गया। आज यह एक शांत, आधुनिक और खुबसूरत शहर है। आज के अपने इस लेख में हम कर्नाटक के इस सुंदर शहर की सैर करेंगें और जानेगें। बैंगलोर दर्शनीय स्थल, बैंगलोर के पर्यटन स्थल, बैंगलोर टूरिस्ट पैलेस, बंगलौर के आस पास के दर्शनीय स्थल, बैंगलोर में घूमने लायक जगह, अगर आप भी इंटरनेट पर ऐसे सवाल सर्च कर रहे है तो हमारे इस लेख में आपके इन सभी सवालो के जवाब मिल जायेगें। क्योकि अपने इस लेख में हम आपको बैंगलौर के टॉप 20 दर्शनीय स्थलो के बारे में बताने जा रहे है। इसके अलावा बैंगलोर पर्यटन की अन्य जानकारी भी आपके साथ साझा करेंगें।

 

बैंगलोर दर्शनीय स्थल के कुछ सुंदर दृश्य
बैंगलोर दर्शनीय स्थलो के कुछ सुंदर दृश्य

 

बैंगलोर दर्शनीय स्थल

 

बैंगलोर के टॉप 20 पर्यटन स्थल

 

लाल बाग

लाल बाग बैंगलोर दर्शनीय स्थल में महत्पूर्ण स्थान रखता है। लगभग 240 एकड में फैले लाल बाग का निर्माण 18वी शताब्दी में टीपू सुल्तान और हैदर अली ने करवाया था। यहा कई ऐसे पौधे है जिन्हें अफगानिस्तान, फ्रांस, तथा कई अन्य देशो से लाकर लगाया गया है। इसके अलावा यहा सौ वर्षो से भी अधिक पुराने पेड,ताल, फव्वारे तथा गुलाब वाटिका देखने योग्य है। इसी बाग में लंदन के “क्रिस्टल पैलेस” की तरह बनाया गया कांच का एक घर भी है। जहा प्रति वर्ष फलो  फूलो व सब्जियो की प्रदर्शनी लगती है। इसके पास ही एक खूबसूरत झील भी है।

 

कब्बन पार्क

बैंगलोर दर्शनीय स्थल में सबसे ज्यादा प्रसिद्ध कब्बन पार्क को बंगलौर का दिल भी कहा जाता है। यह पार्क लगभग 300 एकड के क्षेत्रफल में फैला हुआ है। घने छायादार पेडो एवं बांस के झुरमुटो के कारण आने वाले लोग छायादार माहौल में पैदल घूमना खूब पसंद करते है। इसके अलावा जॉगिंग करने वालो के लिए भी यह पसंदीदा जगह है।

 

बेनरघट्टा नेशनल पार्क

बेनरघट्टा नेशनल पार्क बंगलौर से 22 किलोमीटर दूर स्थित है। यह पार्क वन्य जीवो के लिए एक विशाल शरणस्थली है। लगभग 104.27 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्रफल में फैले इस पार्क को सन् 1971 में स्थापित किया गया था। यह पार्क भारत का पहला तितली पार्क भी है। इसके अलावा इस उद्यान में मगरमच्छ फार्म, स्नेक फार्म, चिडियाघर आदि देखने योग्य है। यहा पर आप हाथी या जीप सफारी का भी लुत्फ उठा सकते है।

 

टीपू सुल्तान का किला

कैमगौडा द्वारा 1537 में बनाया गया किला आज टीपू सुल्तान के किले के नाम से जाना जाता है। 1537 के बाद इसका पुननिर्माण टीपू सुल्तान और हैदर अली ने करवाया था। आज यह किला ब्रिटिश साम्राज्य और टीपू सुल्तान के बीच हुई जंग का गवाह है। इस किले में एक संग्रहालय भी है। जिसमे आप टीपू सुल्तान और हैदर अली से जुडी दुर्लभ वस्तुओ का संग्रह देख सकते है।

 

विधान सभा भवन

कब्बन पार्क के पास ही कर्नाटक विधान सभा तथा सचिवालय के भवन है। इसके सफेद गुम्बद, खम्भो और मेहराबो को देखकर मैसूर के प्राचीन महलो की स्थापत्य कला की याद आती है।

 

बाल भवन

बाल भवन कब्बन पार्क के पास स्थित है। यह स्थान बैंगलोर दर्शनीय स्थल में बच्चो की सबसे ज्यादा पसंदीदा जगहो में से है। यहा बच्चो के मनोरंजन की पूरी व्यव्स्था है। यहा नौका विहार और खिलौना गाडी विशेष रूप से मनोरंजन के साधन है।

 

बुल टेम्पल

यह बैंगलोर का प्राचीन मंदिर है। इसके निर्माण में द्रविड वास्तुकला का उपयोग किया गया है। एक ही पत्थर को तराशकर बनाया गया नंदी मूर्ति यहा का मुख्य आकर्षण है। यह नंदी मूर्ति लगभग 4 मीटर ऊंची और 6 मीटर लंबी है। जिसकी श्रृद्धालु पूजा अर्चना करते है।

 

बैंगलोर पैलेस

यह बंगलौर दर्शनीय स्थल में एक ऐतिहासिक इमारत है।  ट्यूडर शैली में बनी यह इमारत इंग्लैंड के विंडसर कैसेल से मिलती जुलती है।

 

 

बैंगलोर दर्शनीय स्थल के कुछ सुंदर दृश्य
बैंगलोर दर्शनीय स्थलो के कुछ सुंदर दृश्य

 

 

 

नंदी हिल

बंगलौर से 60 किलोमीटर दूर यह एक खूबसुरत स्थल है। समुंद्तल से 1478 मीटर की ऊंचाई पर स्थित एक पर्वत माला है। कहा जाता है कि यहा बहुत सी लडाईया लडी गई है। अब यह एक व्यू प्वाइंट और पिकनिक स्थल है। यहा पर करीब दो हजार वर्ष पुराने दो मंदिर भी है। लोगो का यह भी मानना है कि टीपू सुल्तान गर्मीयो में अक्सर यहा रहने आता था।

 

पर्ल वैली

पर्ल वैली की गिनती बैंगलोर दर्शनीय स्थल में एक खुबसूरत पिकनिक स्थल के रूप में की जाती है। पर्ल वैली की बंगलौर से दूरी लगभग 45 किलोमीटर है। पर्ल वैली एक वाटर फॉल है। यहा 90 मीटर की ऊंचाई से गिरता पानी नीचे आकर मोती की बूंदो की तरह चमकने लगता है। इसलिए इसे पर्ल वैली कहते है।

 

हेमारघाट

हेमारघाट की बैंगलोर से दूरी लगभग 30 किलोमीटर है। यहा लगभग 100 एकड में फैली एक सुंदर झील है। यहा नाव में बैठकर झील की सैर करना और आसपास के प्राकृतिक नजारो को देखना मन में नई उमंग का संचार करता है। पिकनिक मनाने के लिए भी यह एक आदर्श स्थान है।

 

चामराज

चामराज की बैंगलोर से दूरी लगभग 35 किलोमीटर है। यह पिकनिक के लिए एक अच्छा स्थल है। यहा प्राकृति के सुंदर नजारो का शांत वातावरण में आनंद लिया जा सकता है।

 

उल्लूर लेक

डेढ किलोमीटर के क्षेत्रफल में फैली इस झील में कई छोटे छोटे टापू है। जहा थकान मिटाने के लिए विश्राम किया जा सकता है। यहा आप बोटिंग के साथ साथ पिकनिक का भी आनंद उठा सकते है। बैंगलोर सेंट्रल से उल्लूर लेक की दूरी 5 किलोमीटर है।

 

विश्वेश्वरैया म्यूजियम

महान अभियंता एवं आधुनिक कर्नाटक के निर्माता विश्वेश्वरैया की स्मृति में निर्मित इस संग्रहालय में देश की आधुनिक औद्यौगिक एवं तकनिकी प्रगति की झलक दिखाई गई है।

 

सेंट मैरी बसीलीका चर्च

सेंट मैरी बसीलीका चर्च बैंगलोर का सबसे पुराना चर्च है। इस चर्च की नीव 17वी शताब्दी में रखी गई थी। 1875 में इसके वर्तमान स्वरूप का जीर्णोद्वार किया गया था।.चर्च की वास्तुकला सुंदर खंभे और खिडकिया देखने योग्य है।

 

सरकारी संग्रहालय

यह देश के प्राचीन संग्रहालयो में से एक है। यहा बंगलौर की झांकी देखी जा सकती है। यहा प्राचीन सिक्के शिला लेख, पुराने चित्रो का संग्रह, है। भीतर बनी वेंकटप्पा आर्ट गैलरी में कई प्रसिद्ध चित्र और प्रतिमाएं रखी हुई है। जो कि देखने योग्य है।

हमारी यह पोस्ट भी जरूर पढे:–
मैसूर के दर्शनीय स्थल

कुद्रेमुख नेशनल पार्क

इरपु वाटर फॉल

 

शिव गंगा

बैंगलोर से 56 किलोमीटर दूर तुमकर रोड पर 1367 मीटर ऊंची इस पहाडी के शिखर से नीचे का दृश्य बहुत सुंदर दिखाई देता है। इस शिखर पर होनी देवी और गंगाधरेश्वर का गुफा मंदिर भी देखने योग्य है।

 

देवनारायण दुर्गा

बंगलौर से 70 किलोमीटर दूर तुमकुर रोड पर ही 1188 मीटर ऊंची पहाडी पर योगनरसिम्हा तथा भागनरसिम्हा को समर्पित दो मंदिर है। ये मंदिर शिल्पकला के अद्भुत उदाहरण है।

 

डोड्डाइलादा मरा

यह स्थान बंगलौर से 28 किलोमीटर दूर स्थित है। यह 3 एकड में फैला एक पिकनिक स्थल है। यहा 400 साल पुराना एक बरगद का विशाल पेड विशेष रूप से दर्शनीय है।

 

सावन दुर्गा

बंगलौर से 61 किलोमीटर दूर 1207 मीटर ऊंची करीबेटा और बिलिबेटा चोटियो तक जाते समय बडा सुखद अनुभव होता है। यहा 2 हिंदू देवताओ नरसिम्हा और वीरभद्र को समर्पित दो मंदिर है।

 

 

बैंगलोर दर्शनीय स्थल, बैंगलोर के टॉप 20 पर्यटन स्थलो पर आधारित हमारा यह लेख आपको कैसा लगा हमे कमेंट करके जरूर बताए। यह हेल्पफुल जानकारी आप अपने दोस्तो के साथ सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते है। यदि आप हमारे हर एक नए लेख की सूचना इमेल के जरिए चाहते है तो आप हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब भभी कर सकते है।

3 comments found

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.