Alvitrips

Touris place, religious place, history, and biography information in hindi
गुड़गांव दर्शनीय स्थल – गुरूग्राम के टॉप 6 पर्यटन स्थल

गुड़गांव दर्शनीय स्थल – गुरूग्राम के टॉप 6 पर्यटन स्थल

ऐसे समय होते हैं जब रात या दिन का आकाश कोई घर नहीं होता है और आपको केवल इतना करना पड़ता है कि आप उन घरों में रहें जो आपको घर में रहने के लिए मजबूर करते हैं। हालांकि, गुड़गांव पूरी दुनिया की अग्रणी बहुराष्ट्रीय कंपनियों से लैस है लेकिन कॉर्पोरेट जीवन की जबरदस्त हलचल आपकी हड्डियों को तोड़ सकती है और कभी-कभी आपको काम के बोझ तले दबा सकती है। ऐसा समय भी होंगा जब काम के जीवन और घरेलू कामों के बीच जॉगलिंग आपके नसों पर आ जाएगी। तो, यहां हम आपको गुड़गांव की भाग दौड और तवानसपूर्ण जीवन में कुछ मस्ती और आराम भरे पल बिताने के लिए गुड़गांव दर्शनीय स्थल की एक सूची देने जा रहे है। इन गुड़गांव के पर्यटन स्थल की सैर करके आप अपनी भाग दौड और तनाव भरी जिंदगी में कुछ मस्ती और आराम के पल गुजार सकते है। गुड़गाव जिसका नाम बदलकर अब गुरूग्राम कर दिया गया है। यूं तो गुड़गाव पर्यटन, या गुरूग्राम आकर्षक स्थलो की सूची बहुत लंबी है। किंतु हम यहा आपको गुड़गांव के टॉप 6 आकर्षक व गुड़गांव के टॉप 6 पर्यटन स्थलो के बारे में विस्तार से यहां जानकारी देगें। जिनकी सैर करके आप अपनी गुड़गांव यात्रा को सफल बना सकते है।

 

गुड़गांव दर्शनीय स्थल – गुरूग्राम के पर्यटन स्थल

 

 

गुड़गांव दर्शनीय स्थल के सुंदर दृश्य
गुड़गांव दर्शनीय स्थलो के सुंदर दृश्य

 

किंगडम अॉफ ड्रीम

किंगडम अॉफ ड्रीम जैसा की नाम से ही प्रतीत होता है कि “सपनो का सम्राज्य” ।  कॉर्पोरेट श्रमिकों और बच्चों के लिए  किसी सपनो के सम्राज्य से कम नही है।  यह भारतीय विरासत, कला, संस्कृति, शिल्प, व्यंजन और प्रदर्शन कला की चमत्कारी नगरी है। इस आभासी जगह की प्रमुख हाइलाइट्स नॉटंकी महल, शोशा थियेटर, आईफा बज़ और संस्कृति गुली हैं। यह साम्राज्य समृद्ध रूप से तैयार किया गया है जो एक आम आदमी की कल्पना के चित्र से परे है। जांगुरा और झूमूओ स्वादबकलिंग शो हैं जिनके टिकट गर्म केक की तरह बेचे जाते हैं।

यह भारत में अपनी तरह का पहला सपनों का साम्राज्य है। यह हरियाणा के गुड़गांव में स्थित एक कला मनोरंजन, रंगमंच और अवकाश गंतव्य है। किंगडम अॉफ ड्रीम लगभग 6 एकड के क्षेत्रफल में फैला हुआ है। भारत की सांस्कृतिक और पारंपरिक विविधता यहा एक ही छत के नीचे देखने को मिलती है। यहां भारत की कला, संस्कृति, व्यंजन, प्रदर्शन कला, शिल्प और विरासत का एक सुंदर मिश्रण अत्याधुनिक प्रौद्योगिकियों के साथ विशाल पैमाने पर प्रदर्शित किया गया है। हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा ने 29 जनवरी, 2010 को भारत के अपनी तरह के पहले किंगडम  अॉफ ड्रीम सीटी का उद्घाटन पत्थर रखा था।
यहां कई तरह के शो प्रस्तुत किए जाते है जिनमे:-

नौटंकी महल: एक 835 सीट ऑडिटोरियम एक भव्य परिसर की तर्ज पर डिजाइन किया गया है जो असाधारण संगीत शो और नाटक आयोजित करता है,

संस्कृति गुली: भारत के विविध कला, शिल्प और व्यंजन यहां पर प्रदर्शित होते हैं। थीम्ड रेस्तरां और कलात्मक सजावट कुछ मनोरंजक साइटें हैं।

झूमरू और जांगुरा जैसे सांस्कृतिक कार्यक्रम रोज़ाना आयोजित किए जाते हैं जो भारत के संगीत और कला की हवा को बाहरी दुनिया में फैलाते हैं।

 

एम्बिएंस मॉल

एम्बिएंस मॉल भारत का सबसे बड़ा मॉलमॉल है जो लगभग 1 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला है और यह एशिया का सबसे बड़ा मॉल है। यह एक शानदार खरीदारी क्षेत्र है जिसमें 250 से अधिक घरेलू और अंतरराष्ट्रीय ब्रांड हैं। इसके अलावा, इसमें सिनेमा प्रेमियों के लिए फिल्म थिएटर हैं; युवाओ के लिए नाइट क्लब, आइस स्केटिंग, बॉल गैली और  बढ़िया डाइनिंग फूड कोर्ट है।
इस मॉल में गोल्फ़ कोर्स, कार शोरूम, मनोरंजक जोन, हाई स्पीड लिफ्ट और एस्केलेटर और बियर गार्डन भी शामिल हैं। दक्षिण दिल्ली से अविश्वसनीय रूप से निकटता यह दिल्ली और गुड़गांव केे स्थानीय लोगों के लिए एक पसंदीदा स्थान है।

 

हमारे यह लेख भी जरूर पढे

दिल्ली के दर्शनीय स्थल

पानीपत के दर्शनीय स्थल

रोहतक के दर्शनीय स्थल

शेख चिल्ली का मकबरा
फन एंड फूड विलेज

फन एंड फूड विलेज एक मनोरंजन पार्क है जो सबसे लंबे पानी के चैनल (400 फीट) को आलसी नदी के रूप में जाना जाता है। यह बच्चों और वयस्कों दोनों के लिए एक दिन की यात्रा के लिए एक प्रीमियर जगह है। दीवाली के प्रमुख हिंदू त्यौहार को छोड़कर यह साल भर खुला रहता है और 9.30 बजे से 6.30 बजे के बीच जा सकता है। यह स्कूल के बच्चों, कॉर्पोरेट श्रमिकों और कॉलेज के छात्रों के लिए विभिन्न प्रकार के आकर्षण प्रदान करता है। यह पुरानी दिल्ली गुड़गांव रोड पर स्थित है और भारत में सबसे बड़ा इनडोर स्नो पार्क भी है। इसमें आर्ट इंफ्रास्ट्रक्चर स्टेटस और वाटर पार्क के साथ कई मनोरंजन सवारी है, जो आगंतुकों द्वारा बेहद पसंद की जाती है। तथा इसे गुड़गांव दर्शनीय स्थल में महत्वपूर्ण स्थान दिलाती है।

 

 

गुड़गांव दर्शनीय स्थल के सुंदर दृश्य
गुड़गांव दर्शनीय स्थलो के सुंदर दृश्य

 

 

लेयशयॉर वैली पार्क
लेयशयॉर वैली पार्क आईआईएफसीओ चौक मेट्रो स्टेशन, गुड़गांव के पास स्थित है। यह सभी प्रकृति  प्रेमियो लिए एक पसंदीदा जगह है।  इस पार्क की यात्रा जीवन में एक नई ताजगी का अहसास कराती है। यहा के हरे भरे गार्डन और रंग बिरंगे फूल सैलानीयो को मंत्रमुग्ध कर देते है। यह विभिन्न संगीत कार्यक्रमों और उत्साही पार्टियों को भी होस्ट करता है। यह एक छोटा सा जंगली गांव है जिसमें कई रिव्यूलेट हैं, जो इसे एक अविस्मरणीय दौरा बनाते हैं। इसमें कोई प्रवेश शुल्क नहीं है और निश्चित रूप से आप यहा फोटोग्राफी करना भी पसंद करेगें। गुड़गांव दर्शनीय स्थल में यह काफी प्रसिद्ध स्थान हैै।

 

साइबर हब

साइबर हब गुड़गांव के डीएलएफ चरण 2 में स्थित है और कॉर्पोरेट श्रमिकों के बीच बेहद लोकप्रिय है। यह जगह शहर के बेहतरीन बार और रेस्तरां का दावा करती है। भोजन स्थानीय व्यंजनों से अंतरराष्ट्रीय होंठ-स्मैकर्स तक व्यापक रूप से भिन्न होता है। सोई 7 पब एंड ब्रूवरी, द रेड मैंगो, ढाबा द्वारा क्लैरिजेस, द वाइन कंपनी, नान्दो, एंजल्स इन किचन, और केबब एक्सप्रेस जैसे खाद्य पदार्थों में खाद्य जोड़ों में से कुछ खाद्य पदार्थों पसंदीदा हैं। उपर्युक्त रेस्तरां में न केवल एक आकर्षक नाम है बल्कि इसका स्वाद भी मुंह से पानी आने जैसा भोजन भी प्रदान करता है। यह सप्ताह के सभी 7 दिनों में खुला है और यह खाद्य व व्यंजन पसंद उपभोक्ताओं के लिए एक सुखद जगह है।

 

शीतला माता मंदिर

नवरात्रि के इन पावन दिनों में गुड़गाँव स्थित शीतला माता के मंदिर में भक्तों की भीड़ काफी बढ़ जाती है। देश के सभी प्रदेशों से श्रद्धालु यहाँ मन्नत माँगने आते हैं। गुड़गाँव का शीतला माता मंदिर देश भर के श्रद्धालुओं की आस्था का केंद्र बना हुआ है।

यहाँ साल में दो बार एक-एक माह का मेला लगता है। इसके अलावा नवरात्रि में शीतला माता के दर्शन के लिए कई प्रदेशों से लाखों की तादाद में श्रद्धालु गुड़गाँव पहुँचते हैं। शीतला माता मंदिर की कहानी महाभारत काल से जुड़ी हुई है।

महाभारत के समय में भारतवंशियों के कुल गुरु कृपाचार्य की पत्नी शीतला देवी (गुरु माँ) के नाम से गुरु द्रोण की नगरी गुड़गाँव में शीतला माता की पूजा होती है। लगभग 500 सालों से यह मंदिर लोगों की आस्था का केंद्र बना हुआ है। यहाँ पर देश के कोने-कोने से लोग पूजा-पाठ के लिए आते हैं। गुड़गांव दर्शनीय स्थल में इस मंदिर का बहुत बडा धार्मिक महत्व है।

 

 

गुड़गांव दर्शनीय स्थल, गुड़गांव के पर्यटन स्थल, गुड़गांव की सैर, गुड़गांव आकर्षक स्थल, गुड़गांंव में घुमने लायक जगह आदि शीर्षको पर आधारित हमारा यह लेख आपको कैसा लगा हमे कमेंट करके जरूर बताएं यह जानकारी आप अपने दोस्तो के साथ सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते है।

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.