Alvitrips

Touris place, religious place, history, and biography information in hindi

कोडैकनाल के दर्शनीय स्थल – तमिलनाडु का खुबसुरत हिल स्टेशन

भारत के तमिलनाडु राज्य के डिंडागुल जिले में पश्चिमी घाट पलानी पहाडियो में स्थित कोडैकनाल दक्षिण भारत का एक बहुत ही खुबसूरत पहाडी पर्यटन स्थल है। स्थानीय लोग इसे कोडै भी कहते है। कोडैनाल का अर्थ वनो का उपहार होता है। समुद्र तल से 2133 मीटर की ऊचाई पर बसा यह पर्यटन स्थल केवल 2-3 किलोमीटर के दायरे में फैला हुआ है। यहा की मनमोहक हरियाली बलखाती पगडंडिया और नीचे उडते बादल पर्यटको को दीवाना सा बना देते है। इस पर्यटन स्थल का ज्यादा बडा क्षेत्र न होने के कारण सैलानी इस मनोहारी इलाके में पैदल भ्रमण भी कर सकते है।

कोडैकनाल के सुंदर दृश्य
कोडैकनाल के सुंदर दृश्य

कोडैकनाल के पर्यटन स्थल – कोडैकनाल के दर्शनीय स्थल

कोडैनाल झील

यह कोडैनाल लेक कोडैनाल का सबसे पसंदीदा पर्यटन स्थल है। यह सुंदर और सितारानुमा झील 24 हेक्टेयर के क्षेत्रफल में फैली हुई है। इस झील के चारो ओर सडक है। जहा आप पैदल घूमते हुए या घोडे की सवारी के साथ साथ झील की सुंदरता का भी आनंद उठा सकते है। इसके अलावा यहा पर पर्यटक झील में बोटिगं का भी मजा ले सकते है।

कोकर्स वाक

कोडैकनाल के दक्षिणी दिशा की ढलान पर बने इस स्थान पर अॉब्जर्वेटरी से लैस 1 किलोमीटर के ट्रेक पर चहलकदमी करते हुए आप एक से बढकर एक दिलकश नजारो का आनंद ऊठा सकते है।

पिलर रॉक्स

पिलर रॉक्स की पहाडियां 112 मीटर ऊची है। इनके पिछे कई गुफाए और पिकनिक स्थल है। यह कोडैकनाल का लोकप्रिय दर्शनीय प्वाइंट है। यहा एक गुफा में कई सौ फुट नीचे उतरना बहुत ही रोमांचकारी अनुभव है।

पेरुमल पीक

यह खुबसूरत चोटी कोडैकनाल से 20 किलोमीटर दूर है। आमतौर पर यह चोटी कुहरे से ढकी रहती है। जिस दिन मौसम साफ होता है। यहा से नीचे का दृश्य बहुत खुबसूरत दिखाई देता है। यह कोडै पहाड की सबसे ऊची चोटी कहलाती है।

खगोलिकी केंद्र

2347 मीटर ऊचांई पर स्थित इस केंद्र की स्थापना 1899 में की गई थी। यह देश की अपने किस्म की अकेली वेधशाला है।

ऊटी के पर्यटन स्थल

इरपू के दर्शनीय स्थल

कन्याकुमारी के दर्शनीय स्थल

चेन्नई के दर्शनीय स्थल

कुरिंजी अंदावर मंदिर

भगवान मरुगन को समर्पित इस मंदिर के पास से आप उत्तरी मैदानो के खूबसूरत नजारो को जी भरकर देख सकते है। कुरिंजी के बैगनी नीले फूल मंदिर की ढलानो पर गलीचे की तरह बिछे हुए लगते है। इस मंदिर से वैगाह डैम और पलनी हिल्स के सुंदर नजारे भी दिखाई पडते है।

कोडैकनाल के सुंदर दृश्य
कोडैकनाल के सुंदर दृश्य

सिल्वर कैसकेड

यह एक खुबसूरत झरना है जो कोडैकनाल से 8किलोमीटर की दूरी पर है। यहा ऊचांई से गिरता पानी चांदी की तरह चमकता दिखाई देता है इसलिए इसे सिल्वर कैसकेड नाम से जाना जाता है। यहा पर आप पर्यटको को गिरते पानी से अठखेलिया करते हुए देख सकते या उनके साथ भाग ले सकते है।

बेरीजाम झील

यह झील कोडै से 24 किलोमीटर की दूरी पर है। पिकनिक मनाने के लिए यह एक उपयुक्त स्थान है। यहा का सौंदर्य सैलानियो को खूब भाता है

टेलीस्कोप हाउस

कोडैकनाल में दो टेलिस्कोप हाउस है। जहा आप दूरबीन की सहायता से प्रकृति के मनोरम नजारो को दूर दूर तक देख सकते है।

शेनबागुनर

सेक्रेडहार्ट कॉलेज द्वारा संचालित शेनबागुनर जैव संग्रहालय एक बहुत ही उत्कृष्ट संग्राहालय है। इसके एक भाग में आर्किडस की 300 से भी अधिक किस्मे रखी गई है। इन सबके अलावा पर्यटक कोडैनाल में ग्लाइडर्स द्वारा उडने का आनंद भी ले सकते है।

कोडैकनाल कैसे जाएं

वायु मार्ग – वायु मार्ग द्वारा कोडैकनाल आने के लिए आपको मदुरै या कोयंम्बटूर उतरना पडेगा इससे आगे का सफर बस या टेक्सी द्वारा तय करना पडता है।

रेल मार्ग – निकटतम रेलवे स्टेशन कोडै रोड है। कोडैकनाल कोडै रोड से लगभग 80 किलोमीटर दूर है यहा से बस और टेक्सी की सुविधाए उपलब्ध है।

सडक मार्ग – कोडैकनाल देश के प्रमुख शहरो से सडक मार्ग द्वारा अच्छी तरह जुडा हुआ है। यहा पहुचने के लिए चेन्नई बैंगलौर आदि से बस मिल जाती है।

 

Leave a Reply