Alvitrips

Touris place, religious place, history, and biography information in hindi

कलिमपोंग के पर्यटन स्थल kalimpong tourist place

प्रिय पाठकों पिछली कुछ पोस्टो मे हमने उत्तरांचल के प्रमुख हिल्स स्टेशनो की सैर की और उनके बारे में विस्तार से जाना। इस पोस्ट मे हम प्रमुख हिल्स स्टेशन कलिमपोंग के पर्यटन स्थल की सैर करेगे और उसके बारे में विस्तार से जानेगें । अब आप सोच रहे होंगे कि कलिमपोंग कहाँ स्थित है। तो हम आपको बता दे कि कलिमपोंग भारत के राज्य पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग जिले मे स्थित है। कलिमपोंग पश्चिम बंगाल का प्रमुख हिल्स स्टेशन और खुबसूरत वादियो मे बसा एक सुंदर शहर है।

कलिमपोंग का इतिहास बताता है। कि कलिमपोंग 17वी° शताब्दी तक सिक्किम का एक भाग था। 18वी° शताब्दी के प्रारम्भ मे भूटान के राजा ने इस पर कब्जा कर लिया था। 1865 ई° मे इसे दार्जिलिंग मे मिला दिया गया था । दार्जिलिंग और गंगटोक जैसे प्रसिद्ध स्थलो के लिए इसी शहर से होकर जाया जाता है जिसके कारण वर्तमान मे इस शहर की वयस्ता अधिक है। कलिमपोंग 1250 मीटर की ऊचाई पर स्थित इस हिल्स स्टेशन की गिनती विश्व के प्रसिद्ध हिल्स स्टेशनो मे की जाती है। यहां की आबो हवा बहुत अच्छी है। जो पर्यटको को खूब लुभाती है। इसके अलावा यहा के कैक्टस व आर्किड के खुबसूरत पौधे विश्व भर में प्रसिद्ध है। तथा कई देशो मे निर्यात भी किये जाते है ।

कलिमपोंग के पर्यटन स्थल
कलिमपोंग के सुंदर दृश्य
कलिमपोंग के पर्यटन स्थल – कलिमपोंग के दर्शनीय स्थल- tourist place kalimpong

दूरपीना दारा:- नेपाली भाषा मे दूरबीन को दूरपीन कहा जाता है । कलिमपोंग का दूरपीन दारा एक ऐसी जगह है। जहां से आप तीस्ता व रंगीत नदियो की खुबसूरती के साथ साथ कंचनजंघा पर्वत श्रेणी के दिलकश नजारों आनंद उठा सकते है। तथा यहा से पर्यटक सुंदर पहाडियो का भी अवलोकन कर सकते है।

डा• ग्राहम्स होम:- देलो पहाडी पर लगभग 500 एकड भूमि मे फैला यह संस्थान देश विदेश मे एक उच्चस्तरीय शिक्षण संस्थान के रूप मे जाना जाता है। सन् 1900 ई• मे डा• जॉन ऐडरसन ग्राहम ने अपनी पत्नी लेडी कैथरीन ग्राहम के साथ मिलकर लावारिस बच्चों की शिक्षा दिक्षा और पालन पोषण के उद्देश्य से इसका निर्माण कराया था। स्कूल का खुबसूरत भवन तथा रंगीन कांच की खिडकियो वाले गिरिजाघर की सुंदरता देखने योग्य है।

काली बाडी मंदिर:- काली बाडी मंदिर की कलिमपोंग शहर से दूरी 2 किलोमीटर है। यह प्रसिद्ध मंदिर काली माता को समर्पित है। यहां पर पर्यटक मां काली की विशाल प्रतिमा के दर्शन कर सकते है।

मंगल धाम मंदिर:- मंगल धाम मंदिर की स्थापना मंगल दास महाराज ने की थी। जिससे इसका नाम मंगल धाम पडा। यहा पर श्रृद्दालुओ की काफी भीड रहती है।

कोआपरेटिव ट्रेनिंग इंस्टीटयूट:- इस इंस्टीटयूट को पहले गौरीपुर हाउस के नाम से जाना जाता था। यह संस्थान विश्व कवि रवीन्द्रनाथ ठाकुर के पसंदीदा स्थानो मे से एक है। कहा जाता है कि इस स्थान पर उन्नहोने अपनी कई कविताओ की रचना की थी।

आर्मी गोल्फ कोर्स:- यह गोल्फ कोर्स सर्किट हाउस के समीप स्थित है। इसके चारों ओर फैले पेड पौधे व रंगबिरंगे फूल इसकी सुंदरता को और बढाते है। यह गोल्फ खेलने का अपना ही मजा है।

कलिमपोंग के पर्यटन स्थल

राफ्टिंग:- कुछ सालो पहले शुरू की गई तीस्ता नदी पर राफ्टिंग काफी लोकप्रीय है। यह शहर से 16 किलोमीटर दूर तीस्ता बाजार के पास चित्रे से शुरू होती है।

कलिमपोंग के पर्यटन स्थल

पाइन व्यू नर्सरी:- कलिमपोंग के कैक्टस सारे विश्व मे प्रसिद्ध है। यहां पर आपको 700 प्रजातियों के कैक्टस व आर्किड के पौधे देखने को मिलते है। जिनकी सप्लाई विश्व भर मे कि जाती है। यहां पर 80 रूपये से लेकर 8 लाख तक का कैक्टस का पौधा है। कैक्टस देखने के लिए अप्रैल मई का समय सबसे उत्तम है।
दार्जिलिंग टूरिस्ट पैलेस

बौद्ध मठ:- कलिमपोंग मे अनेक बौद्ध मठ दर्शनीय है। जिनमें प्रमुख है:- थोम्सा गुम्फा यह कलिमपोंग क्षेत्र का सबसे पुराना बौद्ध मठ है। तथा शहर से एक किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। थारपा चोलिंग मोनेस्ट्री यह मठ तिरपई पहाडी पर स्थित है। जोंग डोंग पालरी को क्षांग मोनेस्ट्री यह मठ देलो पहाडी पर स्थित है। पेडोंग मोनेस्ट्री यह मठ कलिमपोंग से 26 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

कलिमपोंग के पर्यटन स्थल- कलिमपोंग के नजदीकी दर्शनीय स्थल- tourist place near kalimpong

रिसीसुम:- कलिमपोंग से रिसीसुम की दूरी लगभग 20 किलोमीटर है। 6410 फुट की ऊचाई पर बसा यह एक अत्यन्त ही खुबसूरत पर्वतीय स्थल है ।

लावा:- यहा से आप जेलेपला रेतीला आदि दर्रो के दर्शन कर सकते है। पिकनिक के लिए यह एक आदर्श जगह मानी जाती है। यह खुबसूरत स्थल कलिमपोंग से लगभग 32 किलोमीटर की दूरी तथा 7200 फुट की ऊचाई पर स्थित है।

लोलेगांव:- हरे भरे पाइन के घने जंगलो से घिरा यह खुबसूरत स्थल कलिमपोंग से 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यहां से कंचनजंघा पर्वत श्रेणी का खुबसूरत नाजारा दिखाई देता है। इसके अलावा यह स्थल संनराइज प्वाइंट के लिए भी जाना जाता है। यह कलिमपोंग के पर्यटन स्थल मे प्रसिद्ध है।

कलिमपोंग कैसे पहुँचे

हवाई मार्ग:- कलिमपोंग से नजदीकी हवाई अड्डा बागडोगरा है जो लगभग 80 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

रेल मार्ग:- कलिमपोंग से निकटतम रेलवे स्टेशन जलपाईगुडी है जो लगभग 70 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

सडक मार्ग:- कलिमपोंग सडक मार्ग से भलि भांति जुडा है।

 

Leave a Reply