Alvitrips

Touris place, religious place, history, and biography information in hindi

अहमदाबाद दर्शनीय स्थल – अहमदाबाद के पर्यटन स्थल – अहमदाबाद का इतिहास – अहमदाबाद का मौसम, खाना, संस्कृति

प्रिय पाठको अपनी पिछली पोस्ट में हमने महाराष्ट्र के पर्यटन स्थलो की सैर की और उनके बारे में विस्तार से जाना। अब हम अपनी यात्रा का रूख भारत के प्रसिद्ध व विकासशील राज्य गुजरात की ओर करते है। अपनी गुजरात पर्यटन यात्रा के अंतर्गत सबसे पहले हम गुजरात के प्रमुख शहर और जिला अहमदाबाद दर्शनीय स्थल की सैर करेगें और अपनी इस अहमदाबाद की यात्रा के दौरान हम विस्तार से जानेगें कि…..

  • अहमदाबाद का इतिहास क्या है?
  • अहमदाबाद के दर्शनीय स्थल कौन कौन से है?
  • अहमदाबाद के पर्यटन स्थल कौन कौन से है?
  • अहमदाबाद का मौसम कैसा है?
  • अहमदाबाद का खाना
  • अहमदाबाद की संस्कृति
  • अहमदाबाद के धार्मिक स्थल
  • अहमदाबाद की भाषा

आदि के बारे में जानेगें तो सबसे पहले हम अपनी इस पोस्ट में अहमदाबाद के इतिहास के बारे में जानेगें। क्योकि दोस्तो मेरा मानना है कि किसी भी जगह की यात्रा पर जाने से पहले वहा का इतिहास जानना बहुत जरूरी होता है। इससे हमे वहा के ऐतिहासिक स्थलो को जानने और समझने में मदद मिलती है

अहमदाबाद का इतिहास

सबसे पहले जानते है कि अहमदाबाद का नाम अहमदाबाद कैसे पडा और अहमदाबाद की स्थापना कब और किसने की? तो हम बता दे कि सुल्तान अहमद शाह ने इस शहर की स्थापना 1411 ई° में की थी और सुल्तान अहमद शाह के नाम पर ही इस शहर का नाम अहमदाबाद पडा। यह शहर भारत के स्वतंत्रता संघर्ष के दौरान आन्दोलनकारियो का प्रमुख शिविर रहा है। इतना ही नही यह शहर स्वतंत्रता संघर्ष से जुडे अनेक आन्दोलनो की शुरूआत का भी गवाह रहा है। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने साबरमती आश्रम की स्थापना अहमदाबाद में की। साबरमती नदी के किनारे बसा यह खुबसूरत शहर वर्तमान समय में व्यापार और वाणज्यिक केंद्र के रूप में बहुत अधिक विकसित हो रहा है। अपने ऐतिहासिक और औद्योगिक पहचान के रूप में दर्शनीय इस शहर को गुजरात का ह्रदय कहा जाता है। इंडोनेशियन स्थापत्य कला का प्रारंभ भारत के मानचेस्टर कहलाने वाले इसी शहर में हुआ था। पर्यटन की दृष्टि से अहमदाबाद दर्शनीय स्थल लो से भरपूर है। यहां देश विदेश के पर्यटको का तांता लगा रहता है। आइये आगे की पोस्ट में उन्ही कुछ प्रमुख अहमदाबाद दर्शनीय स्थल के बारे में जानते है

अहमदाबाद दर्शनीय स्थल
अहमदाबाद के दर्शनीय स्थल

अहमदाबाद दर्शनीय स्थल – अहमदाबाद के पर्यटन स्थल

जामा मस्जिद

शहर के बीचो बीच स्थित इस खूबसूरत मस्जिद का निर्माण 1423 ई° में सुल्तान अहमद शाह ने करवाया था। जामा मस्जिद भारत की ही नही बल्कि विश्व की सबसे खूबसूरत एंव कलात्मक मस्जिदो में से एक है। 260 स्तंभ एंव 15 विविध कलात्मक गुम्बदो वाली इस मस्जिद को पिछले दिनो आए विनाशकारी भूकंप से काफी नुकसान पहुंचा है। इसके स्तंभो व जालियो में दरारे पड गई है।

रानी रूपमती की मस्जिद

15 वी सदी की कला का प्रतिनिधित्व करती इस मस्जिद का निर्माण सन् 1430 से 1440 के बीच हुआ था। 12 स्तंभो और 3 गुम्बदो वाली इस मस्जिद की विशेषता यह है कि बिना सीधे सूर्य प्रकाश के बावजूद भी इसके मध्य भाग में हमेशा रोशनी रहती है।

झूलती मीनारे

15 वी सदी में निर्मित झूलती मीनारो की खासियत यह है कि एक मीनार को हिलाने से दूसरी मीनार स्वत: हिलने लगती है। पहले इन मीनारो पर पर्यटको के जाने की छूट थी लेकिन अब इस पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

हठी सिंह जैन मंदिर

सन् 1850 में हठी सिंह के जैन मंदिर एक जैन व्यापारी हठी सिंह ने करवाया था। सफेद संगमरमर के पत्थरो से निर्मित यह मंदिर पर्यटको को खूब आकर्षित करते है। इन मंदिरो के सामने चित्तौडगढ़ शैली में बना कीर्ति स्तंभ विशेष रूप से दर्शनीय है।

शाही बाग पैलेस

इस खूबसूरत महल का निर्माण शाहजहां ने करवाया था। जो अपने विवाह के पश्चात कुछ दिनो तक यहा अपनी बेगम के साथ रहा था। अहमदाबाद दर्शनीय स्थल व सैर पर आने वाले पर्यटक यहा जरूर आते है।

कांकरिया झील

यह एक सुंदर झील है। इस झील के मध्य में एक खूबसूरत बाग है। इस झील के पास ही एक प्राणी संग्रहालय है। इस झील का निर्माण सुल्तान कुतुबुद्दीन ने सन् 1451 में करवाया था।

अहमदाबाद दर्शनीय स्थल
अहमदाबाद के दर्शनीय स्थल

भद्र का किला

सन् 1411 में अहमदशाह द्वारा निर्मित यह किला शहर के मध्य में स्थित है। वास्तुशिल्प की दृष्टि से दर्शनीय इस किले के एक भाग में भद्रकाली का मंदिर है।

सीदी सैय्यद की जाली

सुल्तान अहमद शाह के गुलाम सैय्यद द्वारा निर्मित यह मस्जिद स्थापत्य कला का बेजोड नमूना है।

साबरमती आश्रम

यह महात्मा गांधी द्वारा बनवाया गया वह आश्रम है। जहा उन्होने स्वतंत्रता संग्राम की बागडोर संभाली थी। यहा एक संग्रहालय भी है। जहां गांधी जी के जीवन से संबंधित अनेक वस्तुओ के दर्शन किए जा सकते है।

अहमदाबाद के निकटवर्ती दर्शनीय स्थल

लोथल

दूसरी सदी की हडप्पा संस्कृति के अवशेष आज से 20 साल पहले अहमदाबाद से 87 किलोमीटर दूर लोथल से प्राप्त हुए थे। प्राचीन स्थापत्य कला के शोध विद्यार्थियो और प्राचीन स्थापत्य में रूची रखने वालो के लिए यह एक उत्तम स्थल है।

अहमदाबाद दर्शनीय स्थल
अहमदाबाद के दर्शनीय स्थल

अदलज की बाव

उत्तर अहमदाबाद से 17 किलोमीटर दूर अदलज नाम का एक गांव है। यहा एक कुआं देखने योग्य है। पूरे गुजरात प्रदेश में ऐसा कुआं कही नही है। इस कुएं का निर्माण 1499 ई° में राजा वीर सिंह की रानी रूपाबाई ने करवाया था। इस कुएं के प्रत्येक स्तंभ व दीवारो पर आकर्षक नक्काशी की गई है जिसे देखने के लिए अहमदाबाद दर्शनीय स्थल की सैर पर आने वाले यहा जरूर आते है।

मोढेरा का सूर्य मंदिर

मोढेरा का सूर्य मंदिर भारतीय स्थापत्य कला का अद्भुत उदाहरण है। इसका निर्माण 1026 ई° में हुआ था। अहमदाबाद से 106 किलोमीटर की दूरी पर स्थित इस मंदिर में अनेक राष्ट्रीय सांस्कृतिक उत्सव संपन्न होते है।

अहमदाबाद दर्शनीय स्थल के बारे में जानने के बाद आइए बस कुछ यहा की संस्कृति, मौसम और भोजन के बारे में भी जान लाया जाएं

अहमदाबाद की संस्कृति

गुजरात की लोक संस्कृति और लोक गीत हिन्दू धार्मिक साहित्य पुराण में वर्णित भगवान कृष्ण से जुडी किदवंतियो से प्रतिबिंबित होती है। यहा का लोक नृत्य गरबा तथा डांडिया विश्व भर में प्रसिद्ध है। यहा का रहन सहन ओर पहनावा में  राजस्थान की झलक देखी जा सकती है।

पतंग उत्सव

संक्रांति के पर्व पर मनाया जाने वाला पतंग उत्सव अपनी रंग बिरंगी छवी के कारण विश्व भर में प्रसिद्ध है। गुजरात राज्य पर्यटन विभाग की ओर से सन 1989 से प्रतिवर्ष अंतराष्ट्रीय पतंग उत्सव अहमदाबाद में आयोजित किया जाता है। जिसमे देशी और विदेशी मेहमान विभिन्न। प्रकार की रंगबिरंगी और विशाल आकार वाली पतंगे लेकर इस उत्सव में भाग लेते है। इस दौरान यहा का आसमान रंग बिरंगी पतंगो से सज जाता है।

सोमनाथ मंदिर का इतिहास

औरंगाबाद के पर्यटन स्थल

अहमदाबाद का खाना

गुजरात के लोग अधिकतर शाकाहारी होते है। यहा के व्यंजनो का स्वाद भारत के अन्य इलाको से अलग ही होता है। यहा के व्यंजन हलके मिठेपन व नमकीन मिश्रण से बने होते है। यहा की गुजराती थाली बहुत प्रसिद्ध है। जिसमे फरसाण, मिठाईया, खट्टी मिठी चटनी, और अचार आदि के साथ गेहूं की रोटी व चावल परोसे जाते है। इसके अलावा यहा के मुख्य भोजन में फरसाण में पराठा, खमण, ढोकला, खाडवी, कठियावाडी ढेबरा आदि प्रमुख है।

अहमदाबाद का मौसम

गर्मियो में अहमदाबाद की जलवायु अधिकतर शुष्क रहती है। यहा गर्मियो में अधिकतम तापमान 41℃ तथा न्यूनतम 27℃ तक रहता है। सर्दियो में अहमदाबाद का तापमान अधिकतम 29℃ तथा न्यूनतम 14℃ तक रहता है। यहा जून से लेकर सितम्बर तक मानसूनी मौसम रहता है।

अहमदाबाद कैसे जाएं

अहमदाबाद दिल्ली मुंबई सहित देश के सभी प्रमुख हवाई अड्डो और रेलवे स्टेशनो तथा सडक मार्ग द्वारा भलिभांति जुडा हुआ है। जिससे आप यहा देश के किसी भी कोने से सुविधापूर्वक व आसानी से पहुंच सकते है।

Leave a Reply