Alvitrips

Touris place, religious place, history, and biography information in hindi
अलवर के पर्यटन स्थल – अलवर में घूमने लायक टॉप 5 स्थान

अलवर के पर्यटन स्थल – अलवर में घूमने लायक टॉप 5 स्थान

अलवर राजस्थान राज्य का एक खुबसूरत शहर है। जितना खुबसूरत यह शहर है उतने ही दिलचस्प अलवर के पर्यटन स्थल है। अलवर अरावली पर्वतमाला से घिरा एक ऐतिहासिक शहर भी है। इस नगर को महाराजा प्रतापसिंह ने सन् 1775 में मुगल बादशाह के कब्जे से जिता था। अलवर का इतिहास अनेक शौर्य गाथाओ से भरा पडा है। आज भी यहा पर अरावली पहाड पर बना प्राचीन अलवर का किला बहादुर योद्धाओ की कुर्बानियो की याद को ताजा करता है। वैसे तो अलवर में घूमने लायक बहुत जगह है परंतु अपने इस लेख में हम अलवर के टॉप 5 दर्शनीय स्थलो के बारे जानेगें। और साथ ही साथ हम अलवर की सैर करेगे और अलवर के दर्शनीय स्थलो, अलवर टूरिस्ट पैलेस, अलवर के पर्यटन स्थल आदि के बारे में विस्तार से जानेगें।

 

अलवर के पर्यटन स्थल – अलवर के टॉप 5 दर्शनीय स्थल

 

अलवर के पर्यटन स्थल के सुंदर दृश्य
अलवर के पर्यटन स्थलो के सुंदर दृश्य

 

 

अलवर का किला

अलवर के पर्यटन स्थल मे सबसे प्रसिद्ध स्थल है। अलवर के दर्शनीय स्थलो में इसे यहा का ताज कहा जाता है। यह किला अलवर के सबसे अधिक घूमी जाने वाली जगह में से भी एक है। अलवर का यह प्राचीन किला राजपूताना राज्य तथा मुगलबादशाह बाबर के समय से भी पहले का ऐतिहासिक स्थल है। इसी से आप अलवर के इतिहास का और उसकी प्राचीनता का अंदाजा लगा सकते है। इस ऐतिहासिक प्राचीन किले में बाबर और जहांगीर जैसे सुलतान भी अपने जीवन के कुछ वर्ष बिता चुके है। अलवर का किला अरावली पहाडी पर लगभग 304 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। इस किले का विस्तार भी बहुत बडा है। यह किला उत्तर से दक्षिण में लगभग 5 किलोमीटर तथा पूरब से पश्चिम में लगभग 1.6 किलोमीटर में फैला हुआ एक विशाल दुर्ग है। इसमे 15 बडे तथा 51 छोटे बुर्ज है। अलवर के किले के अनेक द्वार है। जिनके नाम हिन्दू देवताओ के नाम पर है जैसे :– सूरज पोल, जय पोल, चंद्र पोल, कृष्ण पोल, लक्ष्मण पोल आदि। इस विशाल दुर्ग के अंदर अनेक महल, भवन व मंदिर है। जिनमे प्रमुख है :– जय महल, निकुंभ महल, सलीम सागर, सूरज कुंड, मूसी महारानी की छतरी आदि प्रमुख है।

 

विनय विलास महल

विनय विलास महल जिसे अलवर के पर्यटन स्थल में सिटी पैलेस के नाम से भी जाना जाता है। यह भव्य महल 18वी शताब्दी के मुगल तथा राजपूताना कला का संगम है।  यहा की ऊपरी मंजिल पर एक संग्रहालय भी है। जहा अनेक दुर्लभ वस्तुए देखने को मिलती है।

 

अलवर म्यूजियम

इस मयूजियम में आप 18 वी तथा 19 वी शताब्दी की मुगल व राजपूताना कलाकृतियो तथा पेटिंग्स का विशाल संग्रह देख सकते है। पर्यटको के लिए यह संग्रहालय सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक खुला रहता है।

 

राजस्थान पर्यटन पर आधारित हमारे यह लेख भी जरूर पढे:–

अजमेर का इतिहास

आमेर का किला

जैसलमेर के दर्शनीय स्थल

हवा महल का इतिहास

आमेर का किला

जल महल जयपुर

जंतर मंतर जयपुर

मांउट आबू रेगिस्तान का हिल स्टेशन

 

कम्पनी गार्डन

अलवर के पर्यटन स्थल में महत्वपूर्ण और मनोरंजक स्थल है। यह एक बहुत ही खूबसूरत बाग है। जिसको महाराजा शिवदानसिंह ने बनवाया था। यह गार्डन अपनी खूबसूरत हरियाली रंग बिरंगे फूल व मनमोहक फव्वारो के लिए अलवर के दर्शनीय स्थलो में प्रसिद्ध है। यह बाग अलवर में सैर करने का व पिकनिक का आनंद उठाने के लिए उपयुक्त स्थान है।

 

अलवर के पर्यटन स्थल के सुंदर दृश्य
अलवर के पर्यटन स्थलो के सुंदर दृश्य

 

सिलीसेढ़ झील

 

अवलर शहर से लगभग 16 किलोमीटर की दूरी पर स्थित सिलीसेढ झील एक सुंदर पर्यटन स्थल है। यह झील तीन ओर से अरावली पर्वत माला से घिरी हुई है। यहा एक लेक पैलेस नाम का एक  होटल भी है। जहा पर्यटक ठहर सकते है। यह झील काफी खूबरत है। अलवर भ्रमण पर आने वाले सैलानीयो को आकर्षित करती है।

 

अलवर कैसे जाएं

 

अलवर शहर से नजदीकी हवाई अड्डा जयपुर है। अलवर से जयपुर की दूरी लगभग 148 किलोमीटर है। यहा से आप बस टैक्सी या रेल पकड सकते है। अलवर रेल मार्ग व सडक मार्ग द्वारा भारत के सभी प्रमुख शहरो से जुडा हुआ है। जिससे यहा आसानी से पहुंचा जा सकता है।

 

 

अलवर के पर्यटन स्थल, अलवर के दर्शनीय स्थल, अलवर में घूमने लायक जगह, अलवर टूरिस्ट पैलेस आदि शीर्षको पर आधारित हमारा यह लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट करके जरूर बताएं । यह जानकारी आप अपने दोस्तो के साथ सोशल मीडिया पर शेयर भी कर सकते है। यदि आप हमारे हर एक नए लेख की सूचना ईमेल के जरिए पाना चाहते है तो आप हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब भी कर सकते है।

 

write a comment